कोरोना योद्धाओं को पत्थर मारने वालों पर कार्रवाई

मध्य प्रदेश के इंदौर में कोरोना वायरस के संदिग्धों का स्क्रीनिंग करने गई टीम पर पथराव किया गया है।

देश में जहां लाखों लोग कोरोना वायरस के खौफ में जी रहे हैं, यहां तक की लोग देश के प्रधानमंत्री मोदी की बात मान इस वायरस को हराने के लिए घर में ही रह रहे है। इतना ही नहीं लोग पूरी तरह से सावधानी बरत रहे है लेकिन देश में कुछ लोग ऐसे भी है जो सावधानी बरतना तो दूर की बात है, देश के दुश्मन बने बैठे है। इस संकट की घड़ी में देश के साथ होने के बजाय, परेशानियां बढ़ा रहे है।

दरअसल मध्य प्रदेश के इंदौर में कोरोना वायरस के संदिग्धों का स्क्रीनिंग करने गई टीम पर रानीपुरा के टाटपटटी बाखल क्षेत्र में पथराव किया गया है। अपनी ड्यूटी निभाने वाले कोरोना योद्धाओं पर पत्थर चलाने वालों के खिलाफ शिवराज सरकार ने बड़ा एक्शन लिया है। कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम में लगी सरकारी अमले की टीम पर इंदौर की टाट पट्टी बाखल में पथराव करने वाले 7 में से चार लोगों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून  (रासुका) के तहत कार्रवाई की गई है। 

इस पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सख्त नाराजगी जताते हुए सख्त कार्रवाई के निदेर्ष दिए थे। जिसके बाद जिला प्रशासन ने सख्त रवैया अपनाया है। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी मनीष सिंह ने गुरुवार की रात को राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम 1980 की धारा तीन की उपधारा दो के तहत चार व्यक्तियों पर रासुका की कार्रवाई करते हुए उन्हें जेल भेजे जाने के आदेश जारी किए हैं। जिला दंडाधिकारी इंदौर ने गिरफ्तार किए गए इन दोषियों को केंद्रीय जेल रीवा में रखे जाने के आदेश दिए हैं।

पथराव की घटना में शामिल में ये लोग

पथराव की घटना में शामिल मोहम्मद मुस्तफा, पिता हाजी मोहम्मद इस्माइल, उम्र 28 साल, मोहम्मद गुलरेज, पिता हाजी अब्दुल गनी, उम्र 32 साल, सोयब उर्फ सोभी, पिता मोहम्मद मुख्तियार , उम्र 36 साल और मज्जू उर्फ मजीद, पिता अब्दुल गफूर , उम्र 48 साल पर रासुका की कार्रवाई की गई है।

भीड़ स्वास्थ्यकर्मियों की टीम पर हमला

पुलिस उप महानिरीक्षक हरी नारायण चारी मिश्रा ने इस बारे में बताया है कि ‘पथराव करने वालों की वीडियो फुटेज से पहचान की जा रही है। चार पर रासुका की कार्रवाई की गई है और अन्य की पहचान की जा रही है। बता दें कि जो वीडियो सामने आया था उसमें भीड़ स्वास्थ्यकर्मियों की टीम पर हमला करती नजर आई थी।’ 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close