जानें बुद्ध पूर्णिमा का खास महत्व, इस काम को करने से बदलेगी किस्मत

आध्यात्म

इस बार बुद्ध पूर्णिमा 16 मई यानि सोमवार को मनाई जा रही है, वैशाख माह की पूर्णिमा के दिन ही गौतम बुध का जन्म हुआ था, उनकी जन्म तिथि पर बुद्ध पूर्णिमा मनाई जाती है, गौतम बुद्ध को भगवान विष्णु का नौवां अवतार भी कहा जाता है, ऐसे में यह दिन हिंदुओं के लिए भी बेहद महत्वपूर्ण है, इस दिन श्रीहरि की पूजा के साथ-साथ चंद्र देव की भी पूजा की जाती है, बुद्ध पूर्णिमा का महत्व क्या है, व्रत कैसे करें और पूजा विधि क्या हम देंगे आपको ये पूरी जानकारी।  

मंदिर या मकबरा ताज के 22 कमरों के पीछे क्या? नहीं जानेंगी अब दुनिया?

बुद्ध पूर्णिमा के दिन ब्रह्म मुहूर्त में उठकर स्नान करें
सूर्य के सामने जल अर्पण करके व्रत करने का संकल्प करें
इस दिन भगवान विष्णु और चंद्र देव की पूजा करने से अत्यंत फल प्राप्त होता है
इस दिन दान दक्षिणा से भी दोगुना फल प्राप्त होता है
इस बार बुद्ध पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त 15 मई को दोपहर 12: 45 मिनट से शुरू होगा
और ये शुभ मुहूर्त 16 मई, 9 :45 मिनट तक रहेगा


वर्तमान में भगवान बुद्ध की प्रतिमा घर में रखने का चलन बढ़ गया है।
वास्तु के अनुसार, ऐसा करने से घर में सुख-शांति बनी रहती है। 
बौद्ध धर्म के अनुयायियों के लिए यह दिन किसी उत्सव से कम नहीं होता.  

बुद्ध पूर्णिमा के दिन खीर का वितरण करना शुभ माना जाता हैं। चावल एवं मेवे से बनी खीर वितरित करने से मन को शांति व बल प्राप्त होता है।हम भी इस बुद्ध पूर्णिमा पर भगवान बुद्ध के साथ उनके उपदेशों और संदेशों को अपने जीवन में उतारने का प्रयास करें।

कमेंट करें