कोरोनाकाल में मरीजों की मदद करने वाले शख्स ने किया बलात्कार

जुर्म

कोरोना की दूसरी लहर में जब लोग बेबस थे, कोरोना उनकी सांसे छीन रहा था, तब किसी को एंबुलेस तो किसी को ऑक्सीजन नहीं मिल रही थी, उस समय अपने ऑटो को ही एंबुलेंस बनाकर लोगों को फ्री में अस्पताल पहुंचाने वाला था ऑटो ड्राइवर जावेद, भोपाल के इस ऑटो ड्राइवर ने लोगों की मदद कर खूब सुर्खियां बटोरी थी। कोरोना काल में लोगों के मसीहा बने जावेद अब एक फिर चर्चाओं में है अब काम के लिए नहीं बल्कि उस पर आरोप लगा बलात्कार का तो सब हैरान है।

ज्ञानवापी मस्जिद के अंदर मिला शिवलिंग, सर्वे हुआ पूरा!

कोरोना काल में जब अपने अपनों की मदद नहीं कर रहे थे तब भोपाल के रहने वाले जावेद ने अपनी पत्नी के गहने बेचकर अपने ऑटो को एंबुलेस बनाया और फिर बेबस लोगों की मदद की, उस समय ये जावेद नाम का शख्स किसी फरिश्ते से कम नही था, क्योंकि शायद समय पर किसी को अस्पताल नहीं ले जाया जाता तो उसे जान से हाथ धोना पड़ता, यहीं नहीं मरीजों के बारे में जानकारी मिलते ही वह लोगों की मदद के लिए पहुंच जाता था और उनसे कोई पैसे भी नहीं लेता था,  

अभिनेता अक्षय कुमार ने भी जावेद के इस कदम की तारीफ की थी, लेकिन समय बदला और ये फरिश्ता बन गया हैवान, इसके घर में एक 27 साल की शादीशुदा महिला रहने आई तो जावेद ने उसे अपनी बहन बनाया और उसके पति के जाने के बाद कमरे में जाने लगा उससे छेड़छाड़ करने लगा, धीरे-धीरे उसकी ये हरकतें बढ़ने लगी। विरोध करने पर उसने बदनाम करने की धमकी देकर महिला से दुष्कर्म किया।

 

जब कुछ दिन पहले उसने पति को इसके बारे में बताया तो करीब 15 दिन पहले वो उसका घर छोड़कर कहीं और रहने चले गए। इसके बाद भी जावेद उसके पीछे पड़ा रहा। वह उससे दुष्कर्म करने के लिए दबाव बना रहा था। विरोध करने पर बोला कि वह उसे बदनाम कर देगा। परेशान होकर महिला ने थाने में दुष्कर्म का मामला दर्ज करवाया, जिसके बाद पुलिस ने आरोपी जावेद को गिरफ्तार कर लिया। 

कमेंट करें