यूपी में बीजेपी ने अखिलेश यादव को दिया ये बड़ा झटका, नहीं आएगी नींद

राज्य समाचार
अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले बीजेपी ने उत्‍तर प्रदेश में अखिलेश यादव की पार्टी में बड़ी सेंध लगा दी है।    बुधवार को समाजवादी पार्टी के चार विधायक  सीपी चंद्र, नरेन्द्र भाटी, रविशंकर सिंह और रमा निरंजन ने बीजेपी का दामन थाम लिया है। बीजेपी ने अखिलेश यादव से हिसाब बराबर कर लिया है। गौरतलब है कि पीछले दिनों अखिलेश यादव ने बीएसपी के छह बागी विधायकों के साथ सीतापुर भाजपा विधायक राकेश राठौर को अपने पाले में किया था। सपा के चारों विधायकों भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण करवाई।


यूपी चुनाव से पहले एक साथ 4 विधायकों का सपा छोड़कर जाना अखिलेश यादव के लिए बड़ा झटका हो सकता है। खबरों के अनुसार बताया जा रहा है नरेन्‍द्र सिंह भाटी का पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश की गुर्जर राजनीति में अच्छा प्रभाव है और यह बीजेपी से फायदेमंद साबि​त होगा। पश्चिमी उत्तर प्रदेश मेंसम्राट मिहिर भोज को लेकर  जमकर गुर्जर राजनीति हो रही है। इस क्षेत्र के प्रमुख गुर्जर नेता पूर्व लोकसभा सांसद और राज्यसभा सांसद सुरेन्द्र नागर पहले भाजपा में शामिल हो गये है और अब नरेंद्र भाटी के जाने से बीजेपी को अच्छा फायदा होता दिख रहा है। 


चार विधायकों को भाजपा में शामिल करने पर प्रदेश अध्‍यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि सबसे लोकप्रिय नेता नरेंद्र भाटी भाजपा से जुड़े हैं। इस बार जनता सपा का सफाया करके ही दम लेगी। प्रदेश अध्यक्ष सिंह ने कहा कि आज अखिलेश यादव को नींद नहीं आएगी। यूपी चुनावों में इस बार सपा और बीजेपी के बीच ही कांटे की टक्कर मानी जा रही है।

कमेंट करें