मथुरा विवाद पर सीएम योगी का बड़ा बयान, पुलिस ने बढ़ाई मस्जिद की सुरक्षा

राज्य समाचार
यूपी चुनावों से पहले मथुरा विवाद पर राजनीति होनी शुरू हो गयी है और विपक्ष ने इसे बीजेपी की चाल बताया है। अयोध्या पर आये फैसले के बाद कई बार साधु—सन्तों ने खुले मंच से इस बात को कहा है कि अब मथुरा की बारी है। मथुरा विवाद पर अभी कोर्ट में सुनवाई चल रही है और इस मामले को लेकर सीएम योगी ने भी अपना रूख साफ कर दिया है।

विभिन्न संगठनों द्वारा 6 दिसम्बर पर शाही ईदगाह में अभिषेक करने और पदयात्रा निकालने के ऐलान के बाद पुलिस और प्रशासन सुरक्षा बढ़ा दी है। श्री कृष्ण जन्मस्थान और शाही ईदगाह के क्षेत्र में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। इस क्षेत्र को संवेदनशील घोषित कर दिया है। श्री कृष्ण जन्मस्थान और शाही ईदगाह मस्जिद के आसपास ड्रोन से निगरानी की जा रही है और लगभग 2000 पुलिस के जवानों के साथ पैरामिलेट्री फोर्स तैनात कर दी गयी है।

इस स्थान को लेकर दावा किया जा रहा है कि यह हिन्दु धर्म के आराध्य कृष्ण की भूमि है लेकिन इसकी पवित्रता को खत्म करने के लिये इसके पास ईदगाह बनाया गया था। इस बात में कितनी सच्चाई है इस पर कोर्ट को फैसला करना है।

सीएम योगी का बयान

सीएम योगी से जब मथुरा में जन्मभूमि पर बनी मस्जिद को लेकर सवाल किया तो उन्होंने कहा कि मथुरा में तो भगवान श्री कृष्ण की है अयोध्या भगवान श्री राम की और काशी में बाबा विश्वनाथ की है। यह मामला राजनैतिक एजेंडा नहीं है यह सभी को पता है कि मथुरा में किसकी पूजा होती है। 

प्रदेश की डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा था मथुरा विवाद पर कहा था कि अयोध्या व काशी में भव्य मंदिर निर्माण जारी है अब मथुरा की तैयारी है। इसके पूरा विपक्ष आग बबूला हो गया था और बीजेपी को धर्म के नाम बांटने का आरोप लगा रहा था।

कमेंट करें