ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बदल दिया इतिहास, लक्ष्मीबाई की समाधि पर झुकाया शीश

राज्य समाचार

केन्द्रीय राज्यमंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया इन दिनों बहुत ज्यादा चर्चा में बने हुए है और इसकी वजह उनका बदलाव हुआ व्यवहार है। बीजेपी में शामिल होने के बाद से ज्योतिरादित्य अपने आप को बीजेपी का सबसे बड़ा चेहरा बनाने में जुटे है। इस बार उन्होंने ग्वालियर में सिंधिया परिवार का इतिहास बदल दिया है और उन्होंने वो कर दिया, जो अब तक सिंधिया घराने के किसी भी महाराज ने नहीं किया था।

ज्योतिरादित्य रविवार को ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के साथ झांसी की रानी लक्ष्मीबाई की समाधि पर पहुंच गए और समाधि के सामने हाथ जोड़े और शीश झुकाकर लक्ष्मीबाई को नमन किया। यह बात किसी को भी अजीब नहीं लगती लेकिन इससे पहले इस परिवार के किसी सदस्य ने ऐसा नहीं किया था।

झांसी की रानी लक्ष्मीबाई के समय सिंधिया परिवार की भूमिका उनके विरोधी के रूप में जानी जाती है और कई हिंदूवादी संगठन इस बात को चुनावी रैलियों में जिक्र करते रहे हैं। सिंधिया परिवार को लक्ष्मीबाई के साथ गद्दारी करने के कारण इस इस परिवार के लोगों ने अभी तक ऐसा नहीं किया था। लेकिन ज्योतिरादित्य ने अब भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो चुके है और वह इस बात को फिर से हवा नहीं देना चाहते है। 

​​​​​​​

ज्योतिरादित्य का मध्य प्रदेश में बहुत बड़ा नाम है और कई लोगों ने तो इस बात का भी दावा किया है कि अगले साल चुनावों में शिवराज सिंह की जगह ज्योतिरादित्य को बीजेपी अपना सीएम उम्मीदवार घोषित करेगी। इस वजह से ज्योतिरादित्य ने पूराने विवादों को खत्म करके बिना विवाद के सीएम पद की दावेदार कर सकते हैं।

कमेंट करें