सलोनी गौर ने चीन का मज़ाक बनाया तो TikTok की सुलग गयी, डिलीट किया वीडियो

भारत विरोधी वीडियो में आते है करोड़ों व्यूज और बनते है वायरल, लेकिन चीन विरोधी वीडियो को तुरंत इस चीनी कंपनी टिकटोक ने हटा दिया। आगे आप खुद ही समझदार है।

कॉमेडियन सलोनी गौर ने आरोप लगाया है कि टिकटोक ने उनका हालिया वीडियो हटा दिया है, जहां उन्होंने लद्दाख में भारत के साथ सीमा पर चीन की गतिविधियों के बारे में मज़ाक किया था।
“तो @TikTok_IN ने मेरे पिछले वीडियो को हटा दिया है जिसमें चीन, जैसा देश, वैसी ऐप पर चुटकुले थे। कुछ बोलने की आजादी ही नहीं है” गौर ने एक ट्वीट में कहा।

20 वर्षीय, जो चरित्र कॉमेडियन हैं और व्यंग्यकार का उपयोग करती है, जो एक काल्पनिक चरित्र नज़मा आपी का उपयोग करती है, ने गुरुवार को चीन की सीमा गतिविधियों पर एक स्केच बनाया था। हालाँकि, इसे TikTok द्वारा हटा दिया गया है। वो वीडियो यहाँ देखें –

गौर के इंस्टाग्राम पर 150,000 से अधिक फॉलोअर्स हैं, जहां वह 2017 से हैं। वह कई मुद्दों पर अपने व्यंग्य के लिए प्रसिद्ध हुईं जैसे कि CAA विरोधी प्रदर्शन, प्रदर्शनकारियों के खिलाफ दिल्ली पुलिस की कार्रवाई, आदि। सलोनी गौर 20 साल की छात्रा है और दिल्ली विश्वविद्यालय में और राजनीति विज्ञान पढ़ रही हैं और जब भी कोई राजनैतिक मसले होते हैं, तब मुद्दों और घटनाओं पर व्यंग्यात्मक वीडियो बनाने के लिए वे तैयार रहती हैं।

गौरतलब है की जब टिकटोक पे भारत विरोधी वीडियोस डाले जाते हैं या ऐसे वीडियोस डाले जाते हैं जो भारत में सामाजिक और धार्मिक हिंसा फैलाने का काम कर रहे हैं युवाओं के बीच, तब तो टिकटोक वीडियो डिलीट नहीं करता है इनकी जब तक इन वीडियोस की कोई रिपोर्ट न कर दे।
बीते कुछ दिनों में टिकटोक से जुड़े ऐसे बहुत से कैड सामने आये थे जिन में हिंसा का, हिन्दू-मुस्लिम नफरत का और यहाँ तक की एसिड अटैक का भी इस्तेमाल किया गया था और ये सारे वीडियोस 14 साल से 26 साल के बीच के युवा ही बनाते हैं।

टिकटोक एक छीनी कंपनी है और इन हिंसात्मक वीडियोस के चलते भारत में #BanTiktok के नाम से इंटरनेट पे सबने इसके प्रति आपत्ति जताई भी थी। लेकिन हमेशा की तरह ये मामला भी कुछ दिनों में ठंडा पड़ गया। जब सलोनी गौर ने चीन का मज़ाक बनाते हुए एक वीडियो डाली तो टिकटोक ने पहली फुर्सत में वीडियो को हटाया, अब ये क्यों हटाया गया और इस कंपनी के कर्ता-धर्ता कहाँ से और किस सोच से ताल्लुक रखते हैं, ये हमें और आपको खुद ही सोचना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close